न्यू अनुभव चुदाई की कहानी – Part 03

loading...

Savita Bhabhi Porn Cartoons Kirtu.com सविता भाभी सेक्स चुदाई की कहानियाँ चूत चुदाई और गांड मरने की कहानियाँ

Savita Bhabhi Porn Cartoons

loading...

loading...

जब गौर से देखा तो मैं अचंभित….

रह गयी मुनीर एक प्रकार का रबर का लिंग एक बेल्ट के सहारे टिकाये हुए उस व्यक्ती के गुतांग में घुसा संभोग
कर रही थी।तब तारा ने मुझे समझाया के ये एक तरह का गुदा मैथुन है।जिसमे अप्राकृतिक लिंग के सहारे
समलैंगिक महिलाएं एक दूसरे के साथ संभोग करते है।पर यहां तो एक मर्द और औरत उल्टा कर रहे थे।तारा ने
मुझे बताया कुछ मर्द ऐसे भी होते है जिनको अपनी गुप्तांग में लिंग पसंद होता है।ऐसे मर्द समलैंगिक भी होते
है।मैंने तभी माइक की तरफ देखा उसने तुरंत कह दिया मुझे कोई शौक नही ऐसा और न ही वो समलैंगिक है उसे केवल औरते ही पसंद है।

मैंने देखा मुनीर जहा उसे धक्के मार रही थी वही वो मर्द कराह रहा था और एक हाथ से अपना लिंग जोर जोर से
हिला रहा था।मैंने तारा से कहा मुझसे ये सब नही देखा जाएगा और बाहर जाने लगी तभी मुनीर ने मेरा हाथ पकड़ लिया और कहा रुको हम सब तुम्हारे लिए ही तो यहां आए है।फिर माइक ने मुझे पकड़ कर वही एक सोफे पे बैठने को कहा,तारा भी मेरे साथ बैठ गयी।मुनीर ने उस व्यक्ति को कुछ कहा और वो व्यक्ति अपनी अवस्था से उठ कर पीठ के बल लेट गया।मुनीर ने जो लिंग लगा रखा था

वो काफी मोटा और लंबा था,उसने उस पर एक क्रीम चिकनाई के लिए लगाई और उसे फिर से उसके गुप्तांग में घुसा धक्के मारने लगी।दोनो अब आमने सामने थे सो मुनीर धक्के मारने के साथ साथ उसके लिंग को पकड़ जोर जोर से हिलाने लगी।5मिनट के बाद वो मर्द और जोर जोर से कराहने लगा,और उसने भी मुनीर का हाथ पकड़ अपने लिंग को और जोर जोर से हिलाने लगा।तभी अचानक एक तेज़ चीख निकली उसकी और एक तेज़ पिचाकरी छुटी उसके लिंग से।उसका वीर्य इतनी तेजी से निकली के सीधा मुनीर के मुख और छातियों पे जा गिरी।वीर्यपात होते ही वो व्यक्ति शांत हुआ और मुनीर ने भी लिंग उसके गुप्तांग से बाहर खिंच लिया।वो व्यक्ती वही लेता रहा

जबकी मुनीर बिस्तर पर से उठ कर हमारे पास आई और बोली के सफाई कर कर आती हु।और वो स्नानागार की और चली गयी।थोड़ी देर बाद वो व्यक्ति भी उठा और माइक की तरफ देखते हुए बोला के उसकी पत्नी(मुनीर)कमाल की औरत है,कास उसकी पत्नी भी वैसी ही होती।माइक ने भी पूछा क्या तुम्हें मजा आया?उसने उत्तर दिया के ये उसका सबसे अच्छा पल था जीवन का।फिर उसने मुझे देखा और जो मेरी आईडी थी वयस्क साइट पर उसी नाम से मुझे पुकारा।मैं हैरान हो गयी के इसे कैसे पता चला।

तब उसने बताया के वो भी उस साइट पे है और मेरी मित्रो की सूची में भी है पर केवल एक बार बात हुई
थी उससे,जिसमे उसने ये बात कही थी जो आज मुनीर ने उसके साथ किया।और इसीलिए मैंने इस व्यक्ति से
दोबारा बात नही की थी।मुझे कुछ याद नही पर शायद ये हुआ भी हो क्योकि ये व्यक्ती मुझे देकग देख सा लग
रहा था।वैसे भी उसने जो अपना शौक बताया वो मुझे अनपचा लगा सलिये ज्यादा रुचि नही लिया मैंने। मुझे बस
ये पता करना था के वो कहा कि रहनेवाला है।बातों से पता चला के वो वन विभाग का ही अधिकारी है और इस
सेहर का नही बस उसकी पहचान का कोई है इस वन विभाग का अधिकारी ।

अब मुझे समझ आया के कैसे माइक ने सारा इंतेज़ाम किया होगा।वैसे माइक को देख कर भी लग रहा था के काफी पैसेवाला होगा।खैर मुझे इस बात से कोई मतलब नही था पर मैं चाहती थी के वो व्यक्ती यहां से चला जाये।और हुआ भी ऐसा ही उसने कहा के उसे जाना है उसे जो चाहिए था वो मिल गया।वो केवल इसीतरह का शौक रखता था तभी वो संतुस्ट लग रहा था उसने खुद को साफ किया मुनीर के साथ कपड़े पहने और मुनीर को चूम कर चला गया।माइक उसे दरवाजे तक छोड़ आया और कुछ बातें भी की फिर दरवाजा बंद कर वापस हमारे पास चला आया।मुनीर भी अब बाहर आकर मेरे बगल में बैठ गयी और उसका वो रब्बर का औजार अभी भी उसकी टांगो के बीच लटक रहा था।

मुझे उसे देख बहुत हसी आरही थी तब मुनीर ने कहा के भारत मे ऐसा बहुत कम दिखता है पर विदेशो में खासकर फिलीपीन्स, थाईलैंड जैसे देशों में आम बात है।उसने बताया के लोग अब केवल संभोग मात्र तक सीमित नही राह गए बल्कि संभोग का मजा बढ़ाने के तरीकों पे जोर देने लगे है।उसने ये भी बताया के बहुत से मर्द औरत और औरत मर्द बन जाते है

सर्जरी करा कर।में मन ही मन सोचने लगी है भगवान दुनिया कितनी अलग है। मुनीर के रूप को बार बार निहार रही थी तो उसने फिर बताया के ये तो नकली लिंग है,बहुत से ऐसे लोग भी मिलते है जिनका आधा अंग मर्द का और आधा अंग औरत का होता है।मुझे उनकी बात पर यकीन नही हो रहा था। तब उसने अपना लैपटॉप खोला और एक वीडियो दिखाई जिसमे एक औरत की तरह दिखने वाली के यौनी नही बल्कि
लिंग था। वो केवल 5मिनट का वीडियो था पर उसने मुझे दुनिया के एक नए पहलू से अवगत कराया।उस वीडियो में एक मर्द,एक औरत,और एक आधा मर्द और औरत संभोव कर रहे थे।

वो मर्द और अर्धमहिला कभी एक दूसरे के साथ संभोग करते तो कभी महिला को एक साथ संभोग करते।कभी मर्द अर्धमहिला के गुप्तांग में अपना लिंग डालता तो कभी अर्धमहिला मर्द के गुप्तांग में।कभी दोनो उस पूरी महिला के यौनी में लिंग डालते तो कभी उसकी गुप्तांग में।बड़ा ही अजीबो गरीब वीडियो था।अंत के दृश्य में मैं और भी हैरान रह गयी जब दोनों का वीर्यपात देखा।

मर्द का तो सही था पर उस अर्धपुरुष या अर्धमहिला जो भी था उसका वीर्य निकलते देख अचंभित हो गयी।
खैर जबतक वो वीडियो खत्म हुआ मुनीर ओर मेरे बीच अच्छी मित्रता हो गयी और काफी खुल गए।वो बार बार
मेरे बालो को सहला कर मेरी तारीफ किये जा रही थी,वो अपने जनन्नागो को मेरे जननांगों से बराबरी कर रही
थी।

मेरा हर चीज़ उससे थोड़ा बड़ा था केवल वो मुझसे थोड़ी लंबी और ज्यादा गोरी थी। उधर तारा ने अपनी गिलास खाली कर के सामने लैपटॉप पर संगीत लगा दिया और झूमने लगी।उसने जीन्स और शर्ट पहन रखी थी जिसे उसने झूमते झूमते उतारना शुरू कर दिया।पहले उसने शर्ट उत्तरी फिर अपनी जीन्स और फिर ब्रा पैंटी में मदमस्त होकर झूमने लगी।उसके स्तन ऐसे लग रहे थे जैसे ब्रा में कोई कैदी और आज़ाद होना चाह रहे हो।वो पहले से काफी वजनी हो गयी थी,उसके जांघ और नितम्ब पहले से काफी बड़े और मोटे लग रहे थे।पर जिस प्रकार वो लंबी थी कोई कह नही सकता के वो मोटी दिखती है,बस भरा भरा बदन था जो किसी भी मर्द के मुह में पानी ला दे।

वो धीरे धीरे नाचते हुए माइक की और आयी फिर माइक के बाहो में झुक कर माइक को चूमने लगी।इससे पहले तो मैने उन्हें अपने मोबाइल में देखा था पर आज संजोग से मेरे बगल में दोनों थे।एक तरफ मुनीर मेरे बालो को सहलाते हुए मेरा पल्लू सरकाने लगी दूसरे बगल तारा और माइक एक दूसरे से प्यार करने लगे।मुनीर ने मेरे कान में कहा तुम्हारी चमड़ी कितनी मुलायम है और तुम्हारे बदन की खशबू मुझे मदहोश कर रही।(मुनीर की भाषा आधी अंग्रेज़ी और आधी हिंदी में थी)।उसने पल्लू मेरे स्तनों से नीचे सरका दिया और मेरे गले को चूम कर बोली “मैं तुम्हारा स्वाद चखना चाहती हु”।ये सब्द बड़े अटपटे से लगे मुझे में सोचने लगी क्या मुनीर मेरे साथ वो करना चाहती है

जो कुछ देर पहले उस मर्द के साथ कर रही थी।मैं बहुत असमंजस में थी और स्वयं निर्णय नही कर पा
रही थी के जो मेरे साथ हो रहा उसे रोकू या होने दु।मेरा मन और मस्तिष्क आपस मे ही लड़ रहे थे के मुझे अच्छा लग रहा या नही।और मैं किसी तरह से मुनीर का विरोध भी नही कर पा रही थी।अंत मे मैंने सोचा होने देती हूं जो हो रहा।मुनीर ने मेरे सिर को दूसरी तरफ घुमा के मेरे गर्दन पर अपनी जुबान फिरानी शुरू कर दी।

तभी मैंने देखा के माइक बड़े गौर से मेरे स्तनों को घर रहा है।पल्लू नीचे होने की वजह से मेरा आधा स्तन दिख रहा था,और बड़े होने की वजह से दोनो स्तनों के बीच की गहराई साफ दिख रहे थे…

loading...

autoremont-ts.ru - Hindi Sex Stories: Home of Official हिंदी सेक्स कहानियाँ with thousands of hindi sex stories written in hindi.

Site Footer


Online porn video at mobile phone


desi sex kahanibhai behan ki chudaitelugusex storessex hd photomarathisexstoriesxossip storiessex storemastram ki kahaniyasex ki kahaniyaantarvasna wwwstories for adults in hindiantarvasna picspahli chudaisex stories.comantarvasna old storyantarvsanadesi sex imageantarvasna sexstoriesantarvasna bibirishto me chudaitrain sex storiesantervasna storyhindi sexi storiessex comics in hindihindi sex storekamaveri storyhd nude photonew story antarvasnaantarvasna samuhikhindisexystoryhot sex pictureshemale sex storiesantarvasna suhagrat storynew kannada sex storieslatest antarvasna storymaa bete ki chudaisex kahaniyapunjabi sex storieschootsasur se chudaiantarvasna latest storysex pics indianindian antarvasnaantarvasna photoantarvasna 2018bhabhi ki gandantarvasna chutkulesex with saalichudai ki kahaniyansex gfdouble meaning joke in hindicall girls numberssex pic hdantarvasna bahan ki chudaisex problemnude sex photohindi storiantarvasna picturetelugusex storesbabi sexhindi antarvasna kahanimast chudaiantarvasna siteantarvasanaantarvasna chathindi antarvasna 2016chachi ki chutantrwasnadesikahaniantarvasna kahani hindi mesambhog kathasex photsantarvasna com imagesdevar bhabhi sex storybus me chudaiindian xxx imagesantarvasna ihindi gay sex kahanibhai bahan sexsasur ne bahu ko chodamaa ki chutsex stories in malayalamantarvasna antisex comics hindighar me chudailatest hindi sex storiesantarvasna free hindi sex storyhindi sex story.comantarvasna pdfantarvashna.comindian sec storiesxxx sex storiesantarvasna storiesantarvasna latest story